सृजनात्मकता की संस्कृति

केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला

भारत में विज्ञान केन्द्र नेटवर्क संरचना में पर्याप्त संवृद्धि के कारण प्रौद्योगिकी से समृद्ध प्रदर्शों एवं एक प्रशिक्षण आधार – स्थल की आवश्यकता महसूस की गयी ताकि अर्थपूर्ण विज्ञान संप्रेषण के लिए प्रभावी प्रदर्शों एवं उपस्करों की डिजाइन एवं संरचना में कौशल एवं क्षमता का विकास किया जा सके । इस उद्देश्य से कोलकाता के सॉल्टलेक में राविसंप मुख्यालय की सुविधाओं के अंश के रूप में राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद् की केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला (केअप्रप्र) की स्थापना की गयी । 13 मार्च 1993 को भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति महामहिम डॉ शंकर दयाल शर्मा द्वारा इसे राष्ट्र को समर्पित किया गया ।

नए समाचार

  • साइबर सुरक्षा पर कार्यशाला

    केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला अन्य प्रतिष्ठित संगठनों के साथ मिलकर इस बात का हमेशा प्रयास करता है कि राविसंप के कार्मिकों या संग्रहालय के पेशेवरों को सर्वोत्तम कार्य पद्धति से परिचित कराया जाए ताकि संग्रहालय ज्ञान का मंदिर और व्यावहारिक विज्ञान पुस्तकालय भी बनें। विभिन्न विषयों पर कार्यशालाओं का आयोजन किया जाता है जिससे नये लोगों से मिलने, नयी चीजें सीखने एवं गहन अध्ययन के अवसर प्राप्त...

    आगे पढ़ें
  • आभासी अनुभवात्मक संग्रहालय

    संस्कृति मंत्रालय के दिशा-निर्देशें के तहत, केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला ने आभासी अनुभवात्मक संग्रहालय (वीईएम) के रूप में आदर्श शहर विरासत ज्ञानार्जन केन्द्र विकसित करने का दायित्व ग्रहण किया है । यह केन्द्र संग्रहालयी नमूना बन सकता है और निकट भविष्य में संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के संरक्षण में और अधिक ऐसे केन्द्र बनाये जा सकते हैं । इस प्रकार का प्रथम आभासी अनुभवात्मक संग्रहालय वाराणसी के मान-महल में बनाया ...

    आगे पढ़ें
  • नये प्रदर्शों पर कार्यशाला

    प्रदर्श हमारे संग्रहालयों को बनाते हैं । वास्‍तव में प्रत्‍येक प्रदर्श एक विचार है जिसकी प्रेरणा असंख्‍य स्रोतों से मिल सकती है । कभी-कभी कलाकार एवं वैज्ञानिक सोचते हैं और उन्हें प्रस्‍तावित करते हैं । कभी-कभी अनुसंधान आलेख, समाचार सामग्री और यहॉं तक कि यू ट्यूब वीडियो भी प्रदर्श के लिए एक विचार लाने में .

    आगे पढ़ें
  • साइबर सुरक्षा पर कार्यशाला

    केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला अन्य प्रतिष्ठित संगठनों के साथ मिलकर इस बात का हमेशा प्रयास करता है कि राविसंप के कार्मिकों या संग्रहालय के पेशेवरों को सर्वोत्तम कार्य पद्धति से परिचित कराया जाए ताकि संग्रहालय ज्ञान का मंदिर और व्यावहारिक विज्ञान पुस्तकालय भी बनें। विभिन्न विषयों पर कार्यशालाओं का आयोजन किया जाता है जिससे नये लोगों से मिलने, नयी चीजें सीखने एवं गहन अध्ययन के अवसर प्राप्त...

    आगे पढ़ें
  • आभासी अनुभवात्मक संग्रहालय

    संस्कृति मंत्रालय के दिशा-निर्देशें के तहत, केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला ने आभासी अनुभवात्मक संग्रहालय (वीईएम) के रूप में आदर्श शहर विरासत ज्ञानार्जन केन्द्र विकसित करने का दायित्व ग्रहण किया है । यह केन्द्र संग्रहालयी नमूना बन सकता है और निकट भविष्य में संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के संरक्षण में और अधिक ऐसे केन्द्र बनाये जा सकते हैं । इस प्रकार का प्रथम आभासी अनुभवात्मक संग्रहालय वाराणसी के मान-महल में बनाया ...

    आगे पढ़ें
  • नये प्रदर्शों पर कार्यशाला

    प्रदर्श हमारे संग्रहालयों को बनाते हैं । वास्‍तव में प्रत्‍येक प्रदर्श एक विचार है जिसकी प्रेरणा असंख्‍य स्रोतों से मिल सकती है । कभी-कभी कलाकार एवं वैज्ञानिक सोचते हैं और उन्हें प्रस्‍तावित करते हैं । कभी-कभी अनुसंधान आलेख, समाचार सामग्री और यहॉं तक कि यू ट्यूब वीडियो भी प्रदर्श के लिए एक विचार लाने में .

    आगे पढ़ें

ए डी चौधरी

महानिदेशक

पूरे विश्व में सृजनात्मकता के सहारे विज्ञान केन्‍द्र फलते-फूलते हैं । प्रारंभ में राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद् के विकास में इसके संस्थापक महान व्यक्तित्वों जैसे श्री अमलेंदु बोस, डॉ सरोज घोष,...

Read More

एस पी पाठक

निदेशक, केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला

केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला में हम सभी जिज्ञासु होते हैं । और इस विशेषता को हम प्रसारित करना चाहते हैं । बौद्धिक जिज्ञासा के महत्व को शायद ही कोई नजरअंदाज कर सके । केन्द्रीय अनुसंधान ...

Read More

नयी परियोजनाएं

’ एक भारत: सरदार पटेल ‘ प्रदर्शनी

भारत के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 31 अक्‍तूबर, 2016 को ’ एक भारत: सरदार पटेल ‘ शीर्षक अनुपम डिजिटल प्रदर्शनी का उद्घाटन किया । इस प्रदर्शनी का सृजन केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला द्वारा राविके, दिल्‍ली के सहयोग से .. ...

भारतीय सिनेमा का राष्ट्रीय संग्रहालय (एनएमआईसी)

केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला द्वारा भारत में अपने ढंग का प्रथम संग्रहालय भारतीय सिनेमा का राष्ट्रीय संग्रहालय फिल्म प्रभाग और नेहरू विज्ञान केन्द्र, मुम्बई के साथ विकसित किया गया । यह कहानी कहने वाला एक संग्रहालय है जहाँ कहानी को संपुष्ट करने के लिए ...

श्री चैतन्य महाप्रभु संग्रहालय

संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार की संस्तुति पर सोलहवीं शताब्दी के दौरान वैष्णव आन्दोलन के प्रसिद्ध हिन्दू महात्मा एवं मुख्य धार्मिक पुनर्जागरणवादी श्री चैतन्य महाप्रभु पर सर्वप्रथम संग्रहालय विकसित करने का दायित्व केन्द्रीय अनुसंधान एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला ने ग्रहण किया है ...

जैव औषधीय जिनोमिक्स हॉल

जैव औषधीय जिनोमिक्स के अत्याधुनिक विज्ञान प्रौद्योगिकी को दर्शाने के लिए के अ प्र प्र राष्ट्रीय जैव औषधीय जीनोमिक्स संस्थान के सहयोग से २००० बर्ग फुट का प्रदर्शनी हाल विकसित कर रही है। २६ अन्तः क्रियात्मक प्रदर्शों एवं दीर्घाकार स्क्रीन प्रोजेक्शन मानचित्रण ...